पथरी क्या होती है, पथरी कैसे होती है और पथरी का इलाज क्या है | pathri ka ilaj | kidney stone treatment in hindi

पथरी कैसे होती है | pathri ka ilaj | kidney stone treatment in hindi

पथरी आज के समय में एक बहुत ही परेशान करने वाली बीमारियों में से एक है पथरी में लोगों के शरीर के कुछ अंग जैसे कि किडनी गॉलब्लैडर जैसी जगहों पर कुछ पत्थर जैसे आकार की गोलियां बन जाती है जो आकार में बड़ी होने के बाद भीषण दर्द को बुलावा देती है और जिस व्यक्ति को भी पथरी की समस्या हो जाती है ( यह भी पढ़ें –  kidney kharab hone ke karan ) | वह व्यक्ति दर्द से काफी परेशान रहता है | पथरी के बारे में हम आपको हर एक जानकारी देंगे जैसे की पथरी क्या होती है क्यों होती है और किस कारण से होती है और इसका क्या इलाज है इसलिए इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें इसे पढ़ने के बाद आप पथरी के बारे में सब कुछ जान जाएंगे ।
पथरी ( किडनी स्टोन ) क्या होती है –
पथरी एक प्रकार की बीमारी होती है जिसमें शरीर के कुछ अंग जैसे कि किडनी या गॉलब्लैडर के अंदर कुछ पत्थर जैसे कर जमा हो जाते हैं और धीरे-धीरे इनका आकार बढ़ने लग जाता है जब इनका आकार ज्यादा बढ़ जाता है तो इससे दर्द होना शुरू हो जाता है ( यह भी पढ़ें –  gas in hindi ) और यह दर्द बहुत ही असहनीय होता है इसलिए इस बीमारी में लोगों को कष्ट भी बहुत ज्यादा होता है और जिसे ठीक करने के लिए अक्सर डॉक्टर ऑपरेशन करने की सलाह देते हैं ।Image result for kidney stone
क्यों बनती है पथरी
स्टोन के बनने का कोई निश्चित कारण नहीं है पथरी अधिकतर किडनी के फील्डर मेकैनिज्म में खराबी आने से होती है इस कारण यूरिन में कुछ रसायन अधिक हो जाते हैं जो जमा होकर पथरी बना देते हैं किडनी स्टोन अधिकतर मिनरल्स और शॉर्ट्स से निर्मित होते हैं ( लीवर ख़राब होने के कारण ) अधिकतर किडनी स्टोन किडनी में ही बनते हैं लेकिन यह मूत्र मार्ग में किसी भी भाग जैसे किडनी मूत्र वाहिनी मूत्राशय को भी प्रभावित कर सकते हैं जब तक पथरी किडनी में है तब तक लोगों को ज्यादा समस्या नहीं होती पर जैसे ही पथरी किडनी से बाहर निकलकर मूत्र मार्ग में आने लगती है तो यह मूत्र का मार्ग रोकने लगती है जिसके कारण दर्द की बहुत बड़ी अनुभूति होती है और इसलिए समय से पहले इसका इलाज कराना बहुत जरूरी हो जाता है ।
पथरी से क्या हो सकती है परेशानी ( pathri ka dard ) –
वैसे तो अधिकतर किडनी स्टोन किडनी में ही फंसे रहते हैं और धीरे-धीरे उनका आकार बढ़ता जाता है लेकिन कई बार जब यह पेशाब के साथ निकलते हैं तो मूत्रमार्ग ( kidney ki safai ) के अन्य भागों में अटक जाते हैं जिससे संक्रमण होने का खतरा पैदा होता है यूरिन पास होने में परेशानी होती है ( pathri ke lakshan )| किडनी स्टोन के कारण पेट में भी बहुत दर्द होता है | लेकिन अगर समय रहते ही इस पथरी को किडनी से निकाल दिया जाए तो इसका कोई भी नुकसान शरीर को नहीं होता यदि किडनी में पथरी बड़ी हो जाए तो इसका एकमात्र इलाज ऑपरेशन ही होता है ( pathri ka ilaj hindi ) ।
इन खाने की चीजों से भी होती है पथरी –
सर्दियों में हरी पत्तेदार सब्जियों का सेवन काफी मात्रा में किया जाता है इससे भी शरीर में कैल्शियम ऑक्सलेट की मात्रा बढ़ जाती है जिस से पथरी हो सकती है इसलिए अगर आपको एक बार पथरी हो गई है तो सर्दियों में ऐसे भोजन का सेवन कम से कम करें जिसमें ऑक्सलेट की मात्रा अधिक हो जैसे कि चुकंदर पालक शकरकंद ड्राई फ्रूट्स चाय काली मिर्च और सोयाबीन इत्यादि इसलिए इन सब चीजों से दूर रहे और कोशिश करें कि आप ज्यादा जंग फूड और प्रोसैस्ड फूड ना खाएं क्योंकि प्रोसैस्ड फूड प्रिजर्वेटिव की मात्रा ज्यादा होती है जो पथरी को और भी बढ़ा सकती है और जंक फूड में अजीनोमोटो नाम का एक केमिकल होता है जो आपके शरीर और आपकी किडनी दोनों को नुकसान पहुंचाते हैं इसलिए हमेशा स्वस्थ खाना खाने की कोशिश करें । ( यह ख़बरें भी पढ़ें –  tea ke nuksan in hindi , vajan badhane ka tarika , awla ka fayda , danto ka ilaj , taqat , home remedies for gas in hindi )
पानी की सही मात्रा भी बहुत जरूरी ( kidney stone treatment in hindi ) –
ज्यादातर लोग पानी की सही मात्रा नहीं पीते जिसके कारण उनके शरीर की अंदरूनी सफाई नहीं हो पाती यदि आप एक दिन में दो से 3 लीटर पानी भी पिए तो यह पानी आपके किडनी की अच्छी तरह से सफाई करती रहेगी और पथरी को बनने से रोकेगी | ( यह भी पढ़ें –  kele ke fayde , kishmish ke fayde , dahi khane ke baad kya nahi khana chahiye , baal kale karne ka tarika , anda kaise khana chahiye , tambe ke bartan me paani pine ke fayde  )गर्मियों के दिन में आपको चार से 5 लीटर पानी पीना चाहिए क्योंकि गर्मियों में पसीने के साथ हमारे शरीर का ज्यादातर पानी बाहर निकल जाता है । Image result for kidney stone
इन बातों का रखें ध्यान ( pathri me kya khaye ) –
1) पानी और तरल पदार्थों का सेवन अधिक मात्रा में करें |
2) नमक नॉन वेज ड्राई फ्रूट्स आदि का सेवन भी कम से कम करें |
3) हमेशा योग और व्यायाम करते रहे और अपना वजन बिल्कुल भी बढ़ने ना दे |
4) अगर आप को डायबिटीज है तो अपने रक्त में शुगर का स्तर हमेशा कम रखने की कोशिश करें |
5) अगर आपको पहले पथरी हो चुकी है तो विशेष ध्यान रखें |
अगर आपको किडनी में या मूत्राशय में बहुत तेज दर्द हो तो यह पथरी होने का लक्षण हो सकता है इसलिए शीघ्र अपने नजदीकी डॉक्टर से संपर्क करें और अपना सीटी स्कैन जरूर कराएं ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.